11 August, 2016

साक्षात्कार को देते समय

1. सबसे पहले आप अपना साक्षात्कार कक्ष
में जाते समय कभी भी नार्मल फेशियल
एक्सप्रेशन बनाये रखे न कि मुस्कुराते हुए।
2. इन्टरव्यूवर आपसे कुछ भी पूछता है। तो
उसका जवाब अगर आपको सही तरीके से
आता है। तो ही आप दीजिए। वरना माफी माँग
लीजिए। प्रश्न भी दो तरह के होते है। एक वो
जिसमें सटीक उत्तर जरुरी होता है। जैसे कि
वर्तमान में बक्सर का युद्द कब लड़ा गया था,
गुरु नानक का जन्म स्थान क्या है? वगैरह
वगैरह.........दूसरा वो जो आपके एकेडिमिक से
पूछा गया है जैसे न्यूटन का नियम, उत्प्रेरक
क्या होते है.......इसमें आपको थोड़ा बहुत भी
पता होता है। तो आप बता सकते हैं।
3.अगर इन्टरव्यूवर आपसे एक एक करके पूछ
रहे हैं। तब तो ठीक है। लेकिन अगर किसी
इन्टरव्यूवर द्वारा उत्तर देते समय दूसरा
इन्टरव्यूवर आपसे प्रश्न पूछता है। तो आप
माफी माँगकर कहें कि पहले इस प्रश्न का
जवाब दे दूँ फिर मैं आपके प्रश्न का उत्तर देता
हूँ। ये आपकी शालीनता को दर्शायेगा कि आप
सही उत्तर देने का ज्यादा प्रयास कर रहे हैं। न
कि जल्दी जल्दी.........
4.कभी कभी ऐसा होता है कि आपके द्वारा
प्रश्नों का जवाब देने के बाद इन्टरव्यूवर
आपको समझाने लगते हैं। तो उनकी बातों को
ध्यान से सुनना चाहिए। उनके द्वारा बताई
गयी किसी भी बात का विरोध नहीं करना
चाहिए। लेकिन अगर आपको कुछ समझ में नहीं
आता है। तो आप उनसे पूछ भी सकते हैं।..........
5.किसी भी प्रश्न की उत्तर देते समय
"कन्फर्म नहीं है, ये कभी भी नहीं कहना
चाहिये, बल्कि इसकी अपेक्षा हाँ या न में ही
जवाब देना चाहिये। अगर आप हाँ या न में
जवाब देंगे तो इसका अच्छा प्रभाव पड़ेगा।"
6.इन्टरव्यू कक्ष में किसी भी प्रश्न का
उत्तर अगर आपको नहीं आता है। तो उसको
अपने ऊपर हावी नहीं होने देना चाहिए। अपने
मन में पहले से ही यह सोचना चाहिए कि सबको
सबकुछ नहीं आता। बस जो कुछ भी आप बताये
वो समझाते हुए बताये।
7.इन्टरव्यूवर अगर इन्टरव्यू के बीच में कुछ
हँसी-मजाक की बात करें। तो थोड़ा मुस्कुरा
देना चाहिए न कि गंभीर चेहरा बनाये रखना
चाहिए। अगर गंभीर चेहरा होगा तो इन्टरव्यूवर
को लगेगा कि आप तनाव को अपने ऊपर हावी
होने देते हैं। जो कि गलत सोच को दर्शाता है।
8.कभी कभी इन्टरव्यूवर आपको गुस्सा
दिलाने के लिए बातें कह सकते हैं जैसे कि आपके
स्नातक में अच्छे नंबर नहीं है, इण्टर में अच्छे
नम्बर नहीं हैं। तो बगैर बहस किये कहना
चाहिए। कि मैंने अपने इनटेलीजेंस क्षमता को
तब से अब तक बढाया है। इसलिए मैं आपके
सामने साक्षात्कार देने के लिए उपस्थित हुआ
हूँ।
8.आप जिस पोस्ट के लिये चयनित हुए है तो
उसके बारें में डिटेल में पढ़ लेना चाहिए। बहुत
बार ऐसा होता है। कि लोग कह देते हैं कि मुझे
इस फील्ड में जाना है। मुझे यह कार्यक्षेत्र
बहुत अच्छा लगता है। इसके बाद अगर उन्होंने
उसी से रिलेटेड कुछ पूछ लिया और आप नहीं
बता पाये तो वो आपके बारे में निगेटिव राय बना
लेंगे। इसलिए ऐसे प्रश्नों का उत्तर देते समय
पहले से सोच लेना चाहिए।...................ऐसे कुछ
प्रश्न हैं--
1--आप यह नौकरी क्यों करना चाहते हैं?
2--क्या आप इस पद के योग्य उम्मीदवार हैं?
3--अगर आपको इससे अधिक वेतन की
नौकरी मिलेगी तो आप क्या करेंगे?
4--अपनी पढाई खत्म करते समय आपने
इसके बाद के समय में क्या किया?........वगैरह
वगैरह
9.ज्यादा देर इन्टरव्यू देने से आपके पढाई में
तेज होने का पता चलता है। और थोड़ा कम
बताने और ऊपर लिखी बातों का पालन करने से
आपके सहनशील होने का पता चलता है। जोकि
ज्यादा जरूरी है। अगर सभी प्रश्नों का जवाब
देने के बाद ऊपर लिखी बातों का पालन करेंगे तो
सोने पे सुहागा वाली कहावत सिद्ध होगी
10. इन्टरव्यूवर को बहुत कम समय में आपके
बारें में राय बनानी होती है। इसलिए तनावमुक्त
होकर साक्षात्कार दे।
11.अंत में इन्टरव्यूवर कक्ष से बाहर आते
समय धन्यवाद कहना चाहिए चाहे सही
इन्टरव्यू हुआ हो या बेकार.......ये भी एक
पाजिटिव सोच को दर्शाता है। और बाहर
निकलते समय जल्दी जल्दी न चलें। इससे
इन्टरव्यूवर को लगेगा कि आप नर्वस होकर
बस पीछा छुड़ाना चाहते हैं।

No comments:

Post a Comment

IF YOU LIKE THE POST,PLEASE LIKE FACEBOOK PAGE BELOW.

KINDLY POST YOUR COMMENT BELOW.